बहुत भीड है मोहब्बत के इस शहर में, एक बार जो बिछडा वापस नहीं मिलता..!!

जरूरी नहीं की हर रिश्ता बेवफाई के साथ ही खत्म हो, कुछ रिश्तें किसी की ख़शी के लिए भी तोड़ने पड़ते हैं..!!

दर्द की शाम हो या सुख का सवेरा हो, सब कुछ कबूल है अगर साथ तेरा हो..!!

बिछड के मोहब्बत के फसाने याद रहते है, उजड जाती है महफिल मगर चेहरे याद रहते है..!!

मैं खुद को तुझ से मिटा लुँगा बडी ऐहतिहात के साथ, तो बस निशाँ लगा दे जहाँ जहाँ मैं बसा हुआ हुवा हूँ..!!

मेने जिस से दिल लगाया वो किसी और का हो गया।

तू था त तो सुकून था जिंदगी को तू नहीं तो जिंदगी से बेजार हुआ हूं।

दुनिया को तो सुकून चाहिए , मुझे तो बस तू I लव यू माय जान चाहिए ।

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है, ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है।

जो नजर से गुजर जाते है, वो सितारे अक्सर टूट जाते है।